×

at length उदाहरण वाक्य

at length हिंदी में मतलब

उदाहरण वाक्य

  1. America Alone deals at length with what Mr. Steyn calls “the larger forces at play in the developed world that have left Europe too enfeebled to resist its remorseless transformation into Eurabia .” Europe's successor population is already in place and “the only question is how bloody the transfer of real estate will be.” He interprets the Madrid and London bombings, as well as the murder of Theo van Gogh in Amsterdam, as opening shots in Europe's civil war and states, “Europe is the colony now.”
    America Alone में स्टेयन ने इस बात को विस्तार से स्पष्ट किया है कि विकसित देशों की बड़ी शक्तियों ने यूरोप को इतना अशक्त बना दिया है कि वह बिना किसी प्रायश्चित के यूरेबिया में अपने परिवर्तन का प्रतिकार नहीं कर सका. यूरोप की उत्तराधिकारी जनसंख्या अपनी जगह पर आ चुकी है और अब प्रश्न केवल इतना है कि भूमि का हस्तान्तरण कब होगा. वे यूरोप को एक उपनिवेश बताते हुये कहते हैं कि मैड्रिड, लन्दन के बम विस्फोट और एम्सटर्डम में थियो वान गाग की हत्या यूरोप के गृहयुद्ध का आरम्भ है.
  2. And Magdi Allam himself, a leading figure at the Corriere della Sera newspaper, what does he say about his faith? (I thank Lorenzo Vidino for help with the following information.) Allam published an autobiography Vincere la paura. La mia vita contro il terrorismo islamico e l'incoscienza dell'Occidente (“Conquering Fear: My life against Muslim terrorism and Western unconsciousness”) in 2005 in which he wrote at length (pp. 18-52) about his childhood in Egypt, where he was born to parents who both identified themselves as Muslims and was raised a Muslim. A few quotes make this point evident:
    मगदी आलम ने कोरियर डेली सेरा समाचार पत्र के अग्रणी व्यक्ति के रुप में अपने धार्मिक लगाव के सम्बन्ध में कहा ( इस सूचना के लिए मैं लोरेन्जो विडिनों का आभारी हूँ )। आलम ने एक आत्मकथा ( भय को परास्त करनाः मुस्लिम आतंक-वाद और पश्चिमी मूर्छा ) 2005 में प्रकाशित आत्म कथा में उन्होनें विस्तार से मिस्र में अपने बचपन के सम्बन्ध में लिखा कि वे ऐसे माता - पिता से जन्मे जिनकी पहचान मुसलमान के रुप में थी और वह मुसलमान के रुप में ही बड़े हुये । कुछ उद्धरण इस बिन्दु को पुष्टि करते हैं -
  3. The era of Islamist uproar began abruptly on February 14, 1989, when Ayatollah Ruhollah Khomeini, Iran's supreme leader, watched on television as Pakistanis responded with violence to a new novel by Salman Rushdie, the famous writer of South Asian Muslim origins. His book's very title, The Satanic Verses , refers to the Koran and poses a direct challenge to Islamic sensibilities; its contents further exacerbate the problem. Outraged by what he considered Rushdie's blasphemous portrait of Islam, Khomeini issued an edict whose continued impact makes it worthy of quotation at length: I inform all zealous Muslims of the world that the author of the book entitled The Satanic Verses - which has been compiled, printed, and published in opposition to Islam, the Prophet, and the Koran - and all those involved in the publication who were aware of its contents, are sentenced to death.
    इस क्रम में मैं दो बिन्दुओं के बारे में चर्चा करना चाहूँगा। पहला तो यह कि पश्चिम का इस्लाम और मुसलमानों के बारे में चर्चा करने , उनकी आलोचना करने और यहाँ तक कि उसे चिढाने का अधिकार क्षीण हुआ है। दूसरा, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता समस्या का अत्यंत छोटा पहलू है दाँव पर कुछ कहीं अधिक लगा है जो कि निश्चय ही हमारे समय का सबसे मह्त्वपूर्ण प्रश्न है, क्या पश्चिमी लोग अपनी ऐतिहासिक सभ्यता को इस्लामवादी आक्रमण के समक्ष बरकरार रख पायेंगे या फिर वे इस्लामी संस्कृति और कानून के समक्ष समर्पण कर द्वितीय श्रेणी के नागरिक होकर रह जायेंग़ॆ?
  4. May 10, 2007 update : I called them “ignorant non-Muslim busybodies” above but Youssef Ibrahim goes further in a New York Sun column today: “useful idiots.” May 13, 2007 update : An estimated 2 million moderate Muslims took to the streets this afternoon in Izmir , Turkey's third largest and most secular city. I happen to be in Istanbul, Turkey and watched the event live at length on television, listening to the songs and witnessing the crowd's fervor. Related Topics: Moderate Muslims , South Asia , Turkey and Turks receive the latest by email: subscribe to daniel pipes' free mailing list This text may be reposted or forwarded so long as it is presented as an integral whole with complete and accurate information provided about its author, date, place of publication, and original URL. Comment on this item
    यूरोपिय संघ के विस्तार आयुक्त पोलीरेन ने तुर्की सेना को आदेश दिया कि वे राष्ट्रपति पद को लोकतांत्रिक पद्धति से निर्वाचित सरकार के हाथ में और अपने राजनीतिक मालिकों के सम्मान की इस परीक्षा में खरे उतरें । बाद अमेरिका ने भी इसे मान्य किया । क्या इससे प्रतित नहीं होता कि यहां नरमपंथी मुसलमान खतरा अनुभव कर रहे हैं वहीं अनेक गैर - मुसलमान अंधे बने हैं । क्या पाकिस्तान और तुर्की में घटित घटनायें मेरे बारंबर कहे गए इस बिंदु को पुष्ट नहीं करतीं कि कट्टरपंथी इस्लाम समस्या और नरमपंथी इस्लाम समाधान है । और क्या इससे यह संकेत नहीं मिलता कि गैर-मुस्लिम व्यस्त लोग उन नरमपंथी मुसलमानों के रास्ते से हट जायें जो इस्लामवाद को इतिहास के कूड़ेदान की उसकी नियति प्रदान करना चाहते हैं ।
अधिक:   पिछला  आगे


PC संस्करण
English


Copyright © 2022 WordTech Co.